Bewafa Shayari Hindi Mai 2020 | बेवफा शायरी | HindiShayariFy

Bewafa Shayari Hindi Mai 2020



Bewafa Shayari Hindi Mai 2020 | बेवफा शायरी | HindiShayariFy

मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है,
मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है,
वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी,
ज़रा सा बेवफा2020 होना ज़रूरी हो गया है।


Meri Nigahon Mein Bahne Wale Ye Aawara Sa Ashq,
Poochh Rahe Hai.. Palkon Se Teri Bewafai2020Ki Bajah.

मेरी निगाहों में बहने वाला ये आवारा से अश्क
पूछ रहे है पलकों से तेरी बेवफाई2020की वजह।


बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,
ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,
कोई पढ़ न ले उस बेवफा2020की यादों को,
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।



मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ!
मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ!
पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ!
क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ!


मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए सायद
आज वो भी बेवफा2020 हो गाए सायद
जब नींद खुली तो पलकों में पानी था
मेरे ख्वाब मुझपे रो गाए सायद